कार पार्किंग विवाद – सलेमटाबरी क्षेत्र में जन्मदिन वाले दिन होमगार्ड इंस्पेक्टर को पीट-पीटकर उतारा मौत के घाट, दो दिन पहले हुए थे रिटायर


 

सलेमटाबरी के अमन नगर में पंजाब पुलिस के रिटायर्ड हवलदार ने होमगार्ड के इंस्पेक्टर की पीट-पीट कर मार डाला। इंस्पेक्टर लाल धनी यादव रविवार को ही रिटायर हुआ था और उसका जन्मदिन भी था। उसका पूर्व हवलदार से घर के बाहर कार पार्किंग को लेकर झगड़ा चल रहा था। दोपहर के समय पूर्व हवलदार प्रिथीपाल सिंह ने परिवार के दूसरे सदस्यों के साथ मिलकर हमला कर दिया। मारपीट से बेहोश हुए लाल धनी को अस्पताल ले जाया गया, जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

हवलदार अपने बचाव के लिए सिविल अस्पताल में दाखिल हुआ था। यहां से पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया है। लाल धनी के बेटे विजय कुमार ने बताया कि उसके पिता लाल धनी रविवार शाम को घर की पहली मंजिल से नीचे उतरे थे। इस दौरान पड़ोसी प्रिथीपाल की गाड़ी उनके घर के बाहर खड़ी की थी। उसके पिता ने गाड़ी साइड लगाने को कहा तो प्रिथीपाल ने उसके पिता लाल धनी के साथ झगड़ा शुरू कर दिया और ईंटें फेंकने लगा।

ईंट नहीं लगी तो प्रिथीपाल उसके पिता को घर में घसीटकर ले गया और गला घोंटकर हत्या कर दी। चीख पुकार सुन वह प्रिथीपाल के घर पर पहुंचे और पिता को वहां से छुड़ाकर अस्पताल ले गए। यहां पर डॉक्टरों ने लाल धनी को मृत घोषित कर दिया। बेटे के अनुसार उसके पिता की रविवार को रिटायरमेंट थी और जन्मदिन भी था।

थाने में दी थी रिटायरमेंट की पार्टी

लाल धनी होमगार्ड में आतंकवाद के काले दौर में सिपाही से भर्ती हुए थे और अब इंस्पेक्टर बन चुके थे। वह सलेम टाबरी थाने में तैनात थे। उन्होंने दो दिन पहले शुक्रवार को थाने में रिटायरमेंट की पार्टी दी थी।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही पता चलेगी मौत के कारणों की वजह
थाना प्रभारी इंसपेक्टर विजय कुमार के अनुसार लाल धनी के बेटे के बयान पर प्रिथीपाल, उसकी पत्नी जिंदर कौर, बेटे गुरनूर सिंह और बेटी रजितपाल कौर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। शव का पोस्टमार्टम के बाद रिपोर्ट में साफ होगा कि लाल धनी की मौत कैसे हुई है।


LEAVE A REPLY