पहाड़ी इलाकों में हो रही बर्फबारी से मैदानी इलाकों में रात का तापमान लुढ़का, पहाड़ों में 9 जनवरी तक होगी भारी बर्फबारी


मौसम विभाग के अनुसार पहाड़ी इलाकों में 9 जनवरी तक बर्फबारी से कोई निजात मिलता हुआ नहीं दिख रहा है विभाग के अनुसार 9 जनवरी तक पहाड़ों में भारी बर्फबारी होने का अनुमान लगाया गया जिससे मैदानी इलाकों में ठंड का प्रकोप और बढ़ेगा| वहीं हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड और जम्मू-कश्मीर में हो रही बर्फबारी के कारण सैलानी खूब मजा ले रहें है|

बर्फबारी का आनंद लेने के लिए पर्यटक पहाड़ी इलाकों में पहुंचे

बर्फबारी का आनंद उठाने के लिए बड़ी संख्या में पर्यटक पहाड़ी इलाकों में पहुंच रहे हैं। शिमला का हिमपात से बुरा हाल है, हालांकि सैलानियों के लिए यह अच्छी खबर है। बर्फबारी के चलते सड़कों पर फिसलन बढ़ गई है जिस कारण पर्यटकों और स्थानीय लोगों को पैदा ही चलना पड़ रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक शनिवार शाम साढ़े 5 बजे से रविवार सुबह साढ़े 8 बजे के बीच कुल्लू जिले के मनाली में 9 सै.मी. बर्फबारी हुई है जबकि आदिवासी लाहौल-स्पीति के प्रशासनिक केंद्र केलांग और किन्नौर के कल्पा में 13-13 सै.मी. हिमपात रिकॉर्ड किया गया है।

वहीं निचले इलाकों में बारिश हुई है। नारकण्डा, कुफरी और शिमला में हल्की बर्फबारी हुई। चारों धामों बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री में दूसरे दिन भी बर्फबारी जारी रही। यहां जमकर बारिश के बाद बर्फबारी हुई। विश्व प्रसिद्ध धाम गंगोत्री और यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग भारी बर्फबारी के बाद आवाजाही के लिए बंद है। दोनों सड़कों पर 2 से 3 फीट तक बर्फ जमी हुई है। इसके अलावा बाबा केदार धाम व आसपास के क्षेत्रों में 4 फीट तक बर्फ जम चुकी है। कटड़ा माता वैष्णो देवी भवन पर भी रविवार को भारी हिमपात हुआ। भारी बर्फबारी के बीच श्रद्धालु डटे रहे और भवन पर अपनी चढ़ाई जारी रखी।


LEAVE A REPLY