श्री मुक्तसर साहिब में दिखा भारत बंद का असर, पुलिस प्रसाशन अलर्ट


कुछ समूहों द्वारा नौकरियों और शिक्षा में जाति आधारित आरक्षण के खिलाफ आज किए गए भारत बंद के आह्वान के मद्देनजर सुरक्षा चाक चौबंद करने और हिंसा रोकने के लिए केंद्र ने सभी राज्यों के लिए परामर्श जारी किया है। गृह मंत्रालय ने कहा कि अपने इलाके में होने वाली किसी भी हिंसा के लिए जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक व्यक्तिगत रूप से जिम्मेदार होंगे। करीब एक हफ्ते पहले हुए ऐसे ही एक प्रदर्शन के दौरान देश के विभिन्न हिस्सों में हुई व्यापक हिंसा के एक हफ्ते बाद यह संदेश आया है। इस हिंसा में एक दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी।

श्री मुक्तसर साहब से पवन तनेजा की रिपोर्ट अनुसार जनरल कैटागरी की तरफ से दस अप्रैल के भारत बंद दे दिए गए बुलावे पर श्री मुक्तसर साहिब में व्यापक प्रभाव देखने को मिला जिस के चलते सारा शहर मुकम्मल बंद रहा। सुबह से ही व्यापार मंडल के प्रधान पिंकी मल्होत्रा के नेतृत्व में शहर की व्यापारिक संस्थाओं के अलावा धार्मिक, समाज सेवीं और राजनीतिक संगठनों के नेता स्थानीय मंडी चौक में एकत्र हुए और शहर में रोष मार्च किया।

बंद को लेकर जहां शहर के सभी सरकारी और प्राईवेट शिक्षा अदारे बढ़ रहे वहीं रेलवे और बस सेवाओं चलती रही। सुरक्षा के मद्देनज़र जहां एसएचओ सिटी तजिन्दरपाल सिंह रोश मार्च के साथ चल रहे थे । शहर के हर चौक में पुलिस मुलाजिम तैनात किए गए हैं।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY