फिल्लौर से मईया भगवान डेरे के बाहर से चुराए गए बच्चे को पुलिस ने रेड कर किया बरामद, चोर गिरोह का हुआ पर्दाफाश


child recovered by punjab police

पुलिस ने फिल्लौर स्तिथ मईया भगवान के डेरे के बाहर से चुराए गए 4 माह के बच्चे को बरामद कर बच्चा चोर गिरोह का पर्दाफाश किया है।पुलिस ने सोमवार रात बठिंडा में रेड कर दो महिलाओं समेत पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जबकि तीन आरोपी फरार हैं। गिरोह ने बच्चे को दो लाख रुपए में बठिंडा की वीरपाल कौर को बेच दिया था। डीएसपी चाहल ने बताया, गिरोह के फरार आरोपियों को गिरफ्तार करके पता लगाया जाएगा कि अब तक कितने बच्चे चोरी करके बेच चुके हैं।

लुधियाना में इस जगह किराए के मकान में हो रहा था बच्चों की तस्करी का खेल

डीएसपी अमरीक सिंह चाहल ने बताया, सहारनपुर के नफीस और नजीम लुधियाना के गुरु गोबिंद नगर टिब्बा रोड पर किराए का मकान लेकर बच्चों की तस्करी का काम कर रहे थे। नफीस की दोस्त सरबजीत कौर जोकि तीन बच्चों की मां है, वह पैसे के लालच में इस गिरोह में शामिल हो गई। ये आरोपी धार्मिक स्थलों पर घूमते थे। इसी बीच मौका पाकर बच्चों को उठा लेते थे और फिर लड़के लेने के इच्छुक लोगों को मोटी रकम में बेच देते थे।

बच्चा खरीदने वाली वीरपाल ने विदेश में रहते पति से पहले गर्भवती होने की बात कही, फिर बोली-लड़का हुआ है

पुलिस ने वीरपाल को तस्करों का साथ देने के आरोप में गिरफ्तार किया है। बठिंडा की वीरपाल कौर का पति विदेश में है। उसके एक के बाद एक 3 लड़कियां हुई थीं, जिनमें से एक की मौत हो चुकी है। उसने पति को खुश करने के लिए लुधियाना में रहती महिला रिश्तेदार से लड़का गोद लेने के बदले पैसे देने की बात कही थी। महिला रिश्तेदार पैसे के लालच में मानव तस्कर गिरोह के संपर्क में आ गई। इसके बाद डेरे के बाहर से उठाया बच्चा दो लाख रुपए में वीरपाल को बेचा गया। उधर, वीरपाल कौर ने पति को भी झूठ कहा था कि वह गर्भवती है। उसने बच्चा खरीदने के बाद फिर फोन पर बताया कि लड़का हुआ है। उसका कहना है कि आरोपियों ने बिल्कुल शक नहीं होने दिया कि किसी का बच्चा चोरी कर उन्हें दिया जा रहा है। सरबजीत कौर ने बच्चा देते हुए कहा था कि बहुत गरीब है। उसके पहले से 5 बच्चे हैं।

आगे पढ़ें पूरी खबर

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY