पंजाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड ने प्लास्टिक निर्माता यूनिटों पर रेड करके 10 मीट्रिक टन प्रतिबंधित प्लास्टिक बैग्स किये जब्त


Plastic Bag Recovered

पंजाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड की ओर से प्रतिबंधित री-साइकिल किए हुए प्लास्टिक के लिफाफों के इस्तेमाल व निर्माण के खिलाफ चलाए गए अभियान के तहत आज प्रदूषण विभाग लुधियाना के चीफ इंजीनियर प्रदीप गुप्ता की अगुवाई में बोर्ड के अधिकारियों और नगर निगम की कुल 4 टीमों ने शहर के विभिन्न इलाकों में प्लास्टिक निर्माता यूनिटों पर रेड करके करीब 10 मीट्रिक टन प्लास्टिक के बैग्स जब्त किए हैं। जब्त किए गए लिफाफों की बाजार में कीमत करीब 15 लाख रुपए बताई जाती है। इस माल को नगर निगम नष्ट कर देगा। प्लास्टिक के लिफाफे में खाद्य वस्तुओं का सेवन न केवल हानिकारक है, बल्कि इससे लोगों को गंभीर रोग हो जाते हैं। प्रदीप गुप्ता ने कहा कि इन फैक्टरियों के चालान काटे गए हैं। इसके अलावा नियमों का उल्लंघन करने वाले यूनिटों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी।

पंजाब प्रदूषण कंट्रोल बोर्ड द्वारा इन इकाइयों पर हुई छापामारी

  • टैक्सटाइल कालोनी स्थित चावला प्लास्टिक
  • समराला चौक स्थित सत्गुरु प्लास्टिक इंडस्ट्रीज
  • ढंडारी कलां स्थित सनराइज प्लास्टिक
  • मोती नगर स्थित गर्ग एंटरप्राइजिस और गर्ग पॉलीटैक इकाई

50 माइक्रोन से नीचे हैं जब्त किए गए लिफाफे

पी.पी.सी.बी. के चीफ इंजीनियर प्रदीप गुप्ता ने कहा कि प्लास्टिक निर्माता कम्पनियों से बरामद प्लास्टिक के लिफाफे 50 माइक्रोन से नीचे हैं। पंजाब सरकार ने वर्ष 2016 से इन लिफाफों के इस्तेमाल पर बैन लगाया हुआ है और पी.पी.सी.बी. ने पंजाब के विभिन्न जिलों में कम्पोस्ट लिफाफे उपलब्ध करवा दिए हैं। इसके बावजूद बड़ी संख्या में फैक्टरियां इन प्रतिबंधित लिफाफों के निर्माण में जुटी हुई हैं।

  • 719
    Shares

LEAVE A REPLY