अनंतनाग में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी, प्रसाशन द्वारा इंटरनेट एवं रेल सेवा की गई बंद


दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में बुधवार की सुबह लश्कर-ए-ताईबा और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ शुरु होने के बाद प्रशासन ने पूरे इलाके में इंटरनेट सेवाओं को ठप करने के साथ बनिहाल-बारामुला रेल सेवा को भी एहतियातन बंद कर दिया है। इस दौरान सुरक्षाबलों ने आतंकियों का ठिकाना बने मकान के आस-पास स्थित अन्य घरों से करीब दो दर्जन लोगो को आतंकियों की गोलियों की बौछार के बीच ही सुरक्षित बाहर निकाला। हालांकि आतंकियों की सही संख्या मालूम नहीं हो पाई है।लेकिन दावा किया जा रहा है कि वहां दो से तीन आतंकी छिपे हैं। इनमें से एक अनंतनाग का ही रहने वाला है और दूसरा जिला डोडा या फिर किश्तवाड़ का निवासी है। संबधित अधिकारियों ने बताया कि बीती रात आधी रात के बाद खबर मिली थी कि अनंतनाग में लालचौक के पास कोतवाल गली में लश्कर ए ताईबा के दो आतंकी अपने किसी संपर्क सूत्र के पास आए हैं। उसी समय सेना की 1 आरआर, सीआरपीएफ की 162वी वाहिनी और 40वी वाहिनी के जवानों के साथ मिलकर राज्य पुलिस विशेष अभियान दल केजवानों ने उन्हें मार गिराने का एक अभियान चलाया। आज सुबह साढ़े चार बजे जवानों ने घेराबंदी करते हुए तलाशी अभियान शुरु किया। आतंकियों नेजवानों को अपने ठिकाने की तरफ आते देख फायरिंग शुरु कर दी। जवानों ने तुरंत अपनी पोजीशन ली और जवाबी फायर किया। इसके बाद वहां मुठभेड़ शुरु हो गई।

मुठभेड़ के दौरान मौके पर मौजूद वरिष्ठ सुरक्षाधिकारियों ने आतंकियों को कई बार सरेंडर के लिए कहा। लेकिन वह नहीं माने और उन्होंने फायरिंग जारी रखी। आतंकियों को किसी तरह सरेंडर के लिए मानते न देख और लगातार फायरिंग करते देख जवानों ने भी जवाबी फायर किया। संबधित अधिकारियों ने बताया कि मुठभेड़ जारी है। इलाके में शरारती तत्वों को हिंसा भड़काने से रोकने के लिए इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया है। मुठभेड़ स्थल की तरफ आने जाने वाले रास्तों को भी बंद किया जा रहा है। जल्द ही दोनों आतंकी मारे जाएंगे या पकड़े जाएंगे। मुठभेड़ के कारण श्रीनगर से बनिहाल जाने वाली ट्रेन सर्विस भी ठप हो गई है। इसके अलावा इलाके में इंटरनेट की सुविधा को बंद कर दिया गया है। दक्षिण कश्मीर के इस इलाके में सेना के जवान कासो के तहत सर्च ऑपरेशन चला रहे थे। सर्च ऑपरेशन के दौरान ही आतंकियों ने सेना के जवानों पर ग्रेनेड फेंका जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हुई।

बताया जा रहा है कि सुबह 4 बजे अनंतनाग के लाल चौक इलाके में लोगों ने बम धमाके और गोलियों की आवाज़ सुनी। जो आतंकियों द्वारा सुरक्षाबलों पर फेंके गए ग्रेनेड की आवाज़ थी, इसके बाद सुरक्षाबलों ने इलाके को घेर लिया और आतंकियों की तलाश शुरू कर दी। ऐसा कहा जा रहा है कि जो दो से तीन आतंकी छुपे हैं उनका सीधा संबंध लश्कर-ए-तैयबा से हो सकता है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY