खुफिया एजैंसियों के मुताबिक अभी नहीं टला खतरा – पंजाब का माहौल खराब करने के लिए काम कर रही टाऊटों की चौकड़ी


terrorist

अमृतसर निरंकारी सत्संग भवन पर हुए आतंकी हमले में एक आरोपी की गिरफ्तारी हो चुकी है। दूसरे आरोपी की तलाश की जा रही है। यह भी खुलासा हो चुका है कि इस हमले के पीछे पाकिस्तान में बैठे हरमीत सिंह हैप्पी पी.एच.डी. की साजिश थी। हमले में इस्तेमाल किए बम भी पाकिस्तान की आर्डिनैंस फैक्टरी में बने हैं। खुलासे के मुताबिक इंटैलीजैंस एजैंसियों के साथ मिलकर पंजाब पुलिस राज्य में अशांति फैलाने वाले 17 मॉड्यूल को तोडने में सफल हुई है। फिर भी यह बात जानना अभी बाकी है कि पंजाब में हथियारों की सप्लाई कैसे हो रही है?

खुफिया एजैंसियों के मुताबिक पंजाब में अशांति फैलाने के लिए पाकिस्तान में बैठी टाऊटों की चौकड़ी आई.एस.आई. के इशारे पर काम कर रही है। इसमें खालिस्तान लिब्रेशन फोर्स के चीफ हरमीत सिंह हैप्पी पी.एच.डी., खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के चीफ रंजीत सिंह नीटा, लश्कर-ए-तोयबा के साथ मिलकर काम कर रहे खालिस्तान समर्थक गोपाल सिंह चावला तथा इंटरनैशनल सिख यूथ फैडरेशन के चीफ लखबीर सिंह रोडे शामिल हैं। चारों पिछले एक साल से मिलकर पंजाब में वारदातों के लिए नैटवर्क तैयार करने के साथ-साथ बड़े स्तर पर माहौल खराब करने की साजिशें रच रहे हैं। इनकी अपनी-अपनी भूमिका है। इसके अलावा पाकिस्तान में बैठे दूसरे बड़े आतंकी बब्बर खालसा के चीफ वधावा सिंह बब्बर और खालिस्तान कमांडो फोर्स के चीफ परमजीत सिंह पंजवड़ का भी इन चारों को सहयोग है।

KLF Terrorist

हरमीत सिंह हैप्पी पी.एच.डी.

हरमीत सिंह हैप्पी पी.एच.डी. लंबे समय से पाकिस्तान में है। पी.एच.डी. पिछले कई सालों से पंजाब में आतंक फैलाने की कोशिश कर रहा है। खुफिया एजैंसियों के मुताबिक हिंदू नेताओं की हत्या के पीछे भी इसी का हाथ था। आतंकी हरमिंद्र सिंह मिंटू को इसका सहयोग था। इसने कई साल रंजीत सिंह नीटा के साथ भी काम किया है। नीटा के अलावा पाकिस्तान के सक्रिय तस्कर और पंजाब में गैंगस्टरों के साथ भी इसका अच्छा तालमेल है। यह भी बताया जाता है कि पंजाब में सीरियल किलिंग के चलते पाकिस्तान में नई बनी सरकार में इसका काफी प्रभाव बढ़ गया था।

भूमिका

पी.एच.डी. की भूमिका पंजाब में स्लीपर सैल्स का नैटवर्क तैयार करना, उन्हें फंडिंग करवाना और वारदातों का अंजाम दिलवाना है।

KLF Terrorist

रंजीत सिंह नीटा

खुफिया एजैंसियों के मुताबिक खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स का चीफ रंजीत सिंह नीटा मोस्ट वांटेड सूची में शामिल है। नीटा बम ब्लास्ट करवाने का मास्टरमाइंड माना जाता है। वह मूलत: जम्मू-कश्मीर का रहने वाला है। काफी साल पहले पाकिस्तान भाग गया था। कई जगह बम विस्फोटों में उसका नाम है। नीटा का कश्मीरी आतंकवादियों के साथ अच्छा तालमेल है। लश्कर-ए-तोयबा, हिजबुल मुजाहिद्दीन और जैश-ए-मोहम्मद से भी इसके संबंध हैं। खुफिया एजैंसियों के मुताबिक नीटा वेष बदलने और रणनीति बनाने में माहिर है।

भूमिका

खालिस्तानी और कश्मीरी आतंकियों में तालमेल करवाना।

KLF Terrorist

गोपाल सिंह चावला
गोपाल सिंह चावला पाकिस्तान की खुफिया एजैंसी आई.एस.आई. और लश्कर-ए-तोयबा के चीफ हाफिज सईद के साथ मिलकर पंजाब में आतंक फैलाने की साजिश रच रहा है। कुछ माह पहले पाकिस्तान में हाफिज सईद से चावला की मुलाकात की फोटो भी जांच एजैंसियों के हाथ लगी थी। इसे खालिस्तान समर्थकों के पाकिस्तान के आतंकी संगठनों के साथ रिश्ते होने की पुष्टि माना जा रहा है।

भूमिका
सोशल मीडिया के जरिए भड़काऊ बयान पोस्ट करने के साथ लड़कों को आतंकवाद के लिए नियुक्त करना।

लखबीर सिंह रोडे
इंटरनैशनल सिख यूथ फैडरेशन के चीफ लखबीर सिंह रोडे के जर्मनी, इटली, कैनेडा, आस्ट्रेलिया, इंगलैंड और अमरीका में बड़े लिंक हैं। रोडे कई आतंकी वारदातों में पुलिस को वांछित है।

भूमिका
खालिस्तान लहर को जिंदा रखना और विदेशों से फंड्स का इंतजाम करवाना। फंडिंग का नैटवर्क जर्मनी, इटली, कैनेडा, आस्ट्रेलिया, इंगलैंड और अमरीका में है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY