सरकारी व निजी बसों में बिना सवारी के सामान ले जाने पर ट्रांसपोर्ट विभाग ने लगाई पाबंदी


लुधियाना – अब पंजाब की सरकारी व निजी बसों के ड्राइवर और कंडक्टर की जेब गर्म नहीं होगी, क्योंकि बसों के माध्यम से दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, जयपुर व अन्य राज्यों में ले जाने वाले सामान पर डायरैक्टर ट्रांसपोर्ट ने पूर्ण तौर पर पाबंदी लगा दी है। बसों के माघ्यम से ड्राइवर व कंडक्टर एक कोरियर का काम कर रहे थे, जो किसी भी व्यक्ति का पैक डब्बा कुछ रुपयों में किसी स्थान तक पहुंचा देते हैं। इस डिब्बे में मादक पदार्थ हो या विस्फोटक इस बात से ड्राइवर और कंडक्टर्स को कोई मतलब नहीं होता था और वह सामान के वजन और बनावट को भांपकर रुपए से सिर्फ जेब में भरते थे।

बस रुपयों से होता था मतलब
कोई चीज कही भी पहुंचानी है तो कंडक्टर और ड्राइवर्स को नाम व पते के साथ रुपए दे दो वह सामान संबंधित जगह पर पहुंच जाएगा। दिल्ली, आगरा, जयपुर, कानपुर और उत्तराखंड तक माल जा रहा है, उसके साथ आपको जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी, यह हाल तब है जब परिवहन विभाग की बसों में सफर करने वाले पैसेंजर्स आए दिन लूट, चोरी और जहरखुरानी के शिकार बन रहे हैं, जबकि बसों में होने वाली अनहौनी को देखते हुए विभाग ने सिर्फ लगेज के साथ संबंधित व्यक्ति को साथ रहना अनिवार्य कर रखा है।

नहीं करते हैं विभाग के अधिकारी जांच
सुरक्षा और राजस्व की दृष्टि से बस स्टैंड पर ही जांच लिया जाए कि बॉक्स में क्या सामान भेजा जा रहा है, वह ’वलनशील या कोई संवेदनशील चीज तो नहीं है, लेकिन सारे नियम कानून को ताक पर रखकर बस के स्टॉफ 50 से 200 रुपए लेकर बिना बुकिंग के ही सामान ढोने का काम कर रहे हैं। इससे सरकार को भी राजस्व की हानि हो रही है, वहीं टैक्स की भी बड़े स्तर पर चोरी हो रही है।

कार्रवाई का है प्रावधान
नियम की अनदेखी पर कंडक्टर व ड्राइवर्स पर कार्रवाई का प्रावधान हैं, लगेज बस के अंदर या लगेज के साथ कोई नहीं है, तो परमानेंट कंडक्टर और ड्राइवर्स को निलंबित करने और सेवा समाप्त करने का भी प्रावधान है।

डायरैक्टर ट्रांसपोर्ट ने जारी की हिदायत
उधर डायरैक्टर ट्रांसपोर्ट भूपिन्द्र सिंह राए ने पंजाब के जनरल मैनेजरों को पत्र जारी करके सख्त हिदायत दी है कि रोडवेज/पनबस बस में सफर करने वाली सवारी के बिना किसी प्रकार का कोई भी सामान नहीं ले जाया जा सकता। अगर किसी बस में बिना सवारी के सामान पाया गया तो ड्राईवर व कंडक्टर पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। उसके लिए चैकिंग स्टाफ बसों को निरंतर चैक करेगा।

  • 534
    Shares

LEAVE A REPLY