झुग्गी में रहने वाला बेटे की बारात में 3 करोड़ की लिमोजिन लेकर पहुंचा, लिमोजिन के साथ तस्वीर खिंचवाने के लिए उमड़ी लोगों की भीड़


झुग्गी में रहने वाला ढोली रविवार को बेटे की बारात 3 करोड़ की 30 फीट लंबी लिमोजिन में लेकर पहुंचा। बारात जब फाजिल्का से जलालाबाद पहुंची तो कार देखने के लिए आसपास जमघट लग गया। लोग सेल्फियां लेते रहे। दुल्हन के लिए भी यह एक अनोखा सरप्राइज था। लिमोजिन का किराया (30 किमी. के लिए) 55 हजार अदा किया गया।

फाजिल्का की बादल कॉलोनी में गोबिंद राम लाइब्रेरी के पास झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले प्रदीप कुमार ने बताया कि वह विवाह-शादियों और खुशी के मौकों पर ढोल बजाने का काम करता है। उन्होंने एक विवाह में लिमोजिन देखी थी। जो उन्हें काफी पसंद आई।

उसी दिन ही उन्होंने ठान लिया था कि वह अपने बेटे की बारात भी लिमोजिन में लेकर जाएगा। प्रदीप कुमार के मुताबिक बेटे दीपक का रिश्ता जलालाबाद तय होने के बाद ही उन्होंने बीकानेर से लिमोजिन की बुकिंग कर ली। इसके लिए किराया 55 हजार रुपए अदा किया गया। रविवार को बेटे की बारात लिमोजिन में फाजिल्का से जलालाबाद पहुंची।

दुल्हन को दिया सरप्राइज : दूल्हे दीपक का कहना है कि जैसे ही कार विवाह स्थल पर पहुंची तो देखने के लिए लोगों की भीड़ जमा हो गई। वधु-पक्ष ने भी बारात का जोरदार स्वागत किया। लोग कार देखने के लिए पहुंचने लगे। जब दुल्हन ने लिमोजिन कार देखी तो उसकी भी खुशी का ठिकाना नहीं रहा। उसके लिए यह एक अनोखा सरप्राइज था। उन्होंने बताया कि इसमें आठ लोग सवार होकर गए थे।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY