बारिश के कारण सब्जी मंडियों में सब्जियों की सप्लाई हुई प्रभावित – सब्जियों की कीमतें बढ़ी


Vegitable

पिछले 3 दिन से लगातार हो रही बरसात के बाद आज चौथे दिन मौसम साफ होने के बावजूद सब्जी मंडियों में सब्जियों की सप्लाई बुरी तरह से प्रभावित हुई, जो थोड़ी-बहुत सब्जियां लोकल मंडियों से पहुंच रही हैं उनकी डिमांड के मुकाबले आमद कम होने के कारण सब्जियों की कीमतों आग उगल रही हैं।

जबकि हरी सब्जियों के साथ टमाटर, नींबू व अदरक की पैदावार का गढ़ माने जाने वाली मंडी मालेरकोटला, जगराओं, मोगा, समराला, खन्ना के साथ ही पड़ोसी राज्य हिमाचल से आने वाली सब्जियों की सप्लाई फसलों के पानी में डूब जाने व खराब होने का कारण बिल्कुल ठप्प होकर रह गई है। कारोबारियों के अनुसार मौसम की मार के चलते आगामी कुछ और दिनों तक सब्जियों की किल्लत बनी रहेगी। सब्जी बेचने वाले खरीदारों को सब्जियों की किल्लत व फसल खराब होने की दुहाई देते हुए मुंह मांगी कीमतें वसूल रहे हैं।

फल की मिठास भी पड़ी फीकी

अब अगर फल-फ्रूट का स्वाद चखने के शौकिनों की बात की जाए तो हिमाचल के शिमला व कुल्लू जिले से आने वाले फल की मिठास भी बरसात ने फीकी कर दी है। इस कारण न केवल फलों की कीमतों व डिमांड ने तेजी पकड़ ली है बल्कि पहाड़ी इलाके से आने वाली सब्जियों की कीमतें भी आसमान छूने लगी हैं।

मंडी में सब्जियों की कीमतों का आंकड़ा

किस्म                    प्रतिकिलो

  • मटर                     200 रुपए
  • धनिया                  140 रुपए
  • नींबू                     100 रुपए
  • फूल गोबी               60 रुपए
  • शिमला मिर्च           50 रुपए
  • हरी मिर्ची              35 रुपए
  • पालक                  30 रुपए
  • घीया                   40 रुपए
  • तोरी                    30 रुपए
  • बंद गोभी               30 रुपए
  • साग                    30 रुपए
  • 1
    Share

LEAVE A REPLY