15 लाख में किया था सिविल इंजीनियर की मौत का सौदा


लुधियाना – वीरवार सुबह 10.02 बजे दुगरी फेस-1 में साइट देखकर बाहर निकले सिविल इंजीनियर मनदीप सिंह (32) पर गोलियां दागने वाले कांट्रैक्ट किलर गुरविंदर सिंह (25) और वारदात में साथ देने वाले मास्टर माइंड बलविंदर सिंह के दोस्त अमनपाल को पुलिस ने 15 घंटे में ही दबोचा लिया है जबकि मास्टर माइंड घर से फरार है।

कांट्रैक्ट किलर ने कम्प्यूटर हार्डवेयर का डिप्लोमा किया हुआ है। लव मैरिज करवाने के लिए पैसे न होने पर उसने 15 लाख में सिविल इंजीनियर की जिंदगी का सौदा किया था। शादी से मात्र 3 दिन पहले उसने वारदात को अंजाम दिया। उपरोक्त जानकारी पुलिस कमिश्नर डा. सुखचैन सिंह गिल, ए.डी.सी.पी. सुरिंदर लांबा, ए.सी.पी. क्राइम सुरिंदर मोहन, ए.सी.पी. रमनदीप सिंह भुल्लर ने शुक्रवार को पत्रकार सम्मेलन दौरान दी। उन्होंने बताया कि कांट्रैक्टर किलर, मास्टर माइंड के इलाके में रहने के कारण पुराना जानकार है। बलविंदर की पत्नी से संबंध होने की रंजिश के चलते मनदीप को मरवाना चाहता था। लगभग 6 महीने पहले गुरविंदर ने बलविंदर को बताया कि वह लव मैरिज करवाना चाहता है लेकिन उसके पास पैसे नहीं है।

उस समय बलविंदर ने उसे 15 लाख रुपए में मनदीप की सुपारी दे दी। इसके बाद उसने 14 अक्तूबर की शादी रख ली और दोनों एक साथ फिरोजपुर गए, जहां गुरविंदर ने गोली चलाने की ट्रेङ्क्षनग ली और 6 रौंद खरीदे, जिसमें से एक रौंद गुरविंदर ने वहीं चला दिया। जबकि 5 हत्या करने के लिए बचाकर रख लिए। गुरविंदर 4 महीने से हर रोज मनदीप की रैकी कर रहा था, उसे मनदीप के बारे में सब कुछ पता चल चुका था। मास्टर माइंड ने उसे अवैध रिवाल्वर खरीदने के लिए 20 हजार रुपए दिए, लेकिन उसने पैसे खर्च कर लिए और हथियार का इंतजाम नहीं कर सका। फिर उसने जिस घर में रहता है, उसी के मालिक की रिवाल्वर चुराकर हत्या करने का प्लान बनाया और कई बार रिवाल्वर चुराकर घर से लेकर गया, लेकिन वारदात नहीं कर सका। पुलिस आरोपियों को शनिवार को अदालत में पेश कर रिमांड पर गहनता से पूछताछ करेगी, वहीं फरार आरोपी की तलाश में लगातार छापेमारी कर रही है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY