भारत के छात्र ने बनाई सबसे सस्ती और तेज चलने वाली इलेक्ट्रिक कार, हर कोई दे रहा है छात्र को बधाई


electric car made by indian student

भारत में पढ़ने वाले छात्र आज विदेशों में पढ़ने वालों छात्रों से कम नहीं है और वह प्रतिदिन कोई ना कोई अविष्कार करते रहते है ऐसा ही कुछ कर दिखाया है स्वामी विवेकानंद इंस्टीट्यूट ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी (स्वाइट) राजपुरा में बीटेक फाइनल के छात्र मोहम्मद जवाद खान ने। जवाद मूलरूप से जम्मू कश्मीर के जिला डोडा स्थित भद्रवाह क्षेत्र का रहने वाला है।

जवाद ने कॉलेज की लैब में मोटरों की टेस्टिंग के दौरान ही इलेक्ट्रिक कार बनाने का सपना मन में संजो लिया और इसको साकार करने के लिए कार के ऐसे मॉडल पर काम करना शुरू कर दिया, जो पर्यावरण के लिए वरदान साबित हो। मोहम्मद जवाद ने दो वर्ष की मेहनत के बाद वोल्टा नामक इलेक्ट्रिक कार का डिजायन तैयार कर इसकी टेस्टिंग के लिए पेश कर दिया। यह कार अब तक की सबसे सस्ती (2.50 लाख रुपये) और तेज रफ्तार से चलती है।

मोहम्मद जवाद ने बताया कि इस कार को तैयार करने में 15 महीने से भी अधिक का समय लग गया और इसे पूरी तरह से तैयार करने में 6 महीने का अतिरिक्त समय लगा है। वोल्टा कार 110 किमी प्रति घंटे की टॉप स्पीड को छू सकती है। एसवीआइईटी के आरएंडडी सेल ने इस परियोजना को पूरा करने के लिए ढांचागत सहायता प्रदान की। इसे सफलतापूर्वक विकसित और टेस्ट किया गया है।

मोहम्मद जवाद ने बताया कि इस कार में दो लोग सवारी कर सकते हैं और इसकी बैटरी 4 से 5 घंटे में पूरी तरह से चार्ज हो जाती है। कार में सोलर से भी बैटरी को चार्ज किया जा सकता है। कार में गेयर मैनुअल रखे गए हैं, जबकि दूसरी कंपनियों की कारों में आटोमेटिक गेयर बॉक्स होता है। इसमें चार्ज बूस्टर का प्रयोग किया जाता है। कार को तैयार करने में करीब 2.50 लाख रुपये का खर्च आया है। इसकी टेस्टिंग में 110 किमी प्रति घंटा रिकॉर्ड किया गया। इस गति की अभी तक कोई भी इलेक्ट्रिक कार तैयार नहीं हुई है।

कार के लिए पेटेंट दाखिल करवाने की हो रही है कोशिश

स्वाइट की डायरेक्टर जनरल अरूणा भारद्वाज व एसवीआइईटी ने इसके लिए जवाद की दृढ़ इच्छाशक्ति और बुलंद हौसले की सराहना की। स्वाइट ग्रुप के चेयरमैन अश्वनी गर्ग व अध्यक्ष अशोक गर्ग ने बताया कि छोटे परिवार को कम लागत वाली इलेक्ट्रिक कार उपलब्ध करवाना आज समय की मांग है। साथ ही यह कार पर्यावरण के लिए भी वरदान साबित होगी। इस इलेक्ट्रिक कार के लिए पेटेंट दाखिल करवाने की प्रक्रिया भी चल रही है।

  • 122
    Shares

LEAVE A REPLY