निगम ने अवैध मैरिज पैलेसों के खिलाफ उठाया कदम, अवैध मैरिज पैलेसों के काटे बिजली कनैक्शन


electricity connection of illegal Marriage Palaces disconnected by Municipal Corporation Jalandhar

पंजाब सरकार द्वारा मैरिज पैलेसों को रैगुलर करने हेतु बनाई गई पॉलिसी के तहत खुद को रैगुलर न करवाने वाले मैरिज पैलेसों पर कड़ी कार्रवाई उस समय शुरू हो गई जब निगम के कहने पर पावर कॉम ने गुरु गोबिंद सिंह एवेन्यू के बाहर नैशनल हाईवे पर स्थित पैलेस पैराडाइज एम्प्रैस का बिजली कनैक्शन काट दिया।

हाईकोर्ट के निर्देशों पर हुर्इ सख्ती शुरू

गौरतलब है कि कुछ माह पहले तक जालंधर में कुल 55 मैरिज पैलेस चल रहे थे। पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में मैरिज पैलेसों को लेकर एक याचिका दायर हुई थी जिसके फैसले के आधार पर पंजाब सरकार ने पैलेसों को रैगुलर करने हेतु पॉलिसी बनाई। खास बात यह है ऐसी पॉलिसी सरकार द्वारा 3-4 बार बनाई जा चुकी है। परंतु ज्यादातर मैरिज पैलेस मालिक इस पॉलिसी के तहत अपने पैलेसों को रैगुलर करवाने में दिलचस्पी नहीं दिखा रहे। बाकी शहरों की तरह जालंधर में भी ज्यादातर मैरिज पैलेस अवैध रूप से चलते रहे। परंतु अब हाईकोर्ट के निर्देशों पर ऐसे पैलेसों पर सख्ती होनी शुरू हो गई है। निगम ने कई बार इन पैलेसों का सर्वे करके पूरी रिपोर्ट तैयार की है और हर पैलेस बारे अलग-अलग डाटा जुटाने के अलावा हर पैलेस से जवाब भी लिया गया है। अब बिजली कनैक्शन कटने की सूचना मिलते ही शहर के मैरिज पैलेस मालिकों में हड़कम्प मच गया है। गौरतलब है कि कुछ ही दिनों बाद मैरिज पैलेसों को लेकर पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट में सुनवाई होनी है जहां जालंधर निगम के अधिकारियों ने जवाब दायर करना है।

निगम ने खुद नहीं काटे पानी सीवर कनैक्शन

अवैध पैलेसों के मामले में नगर निगम के अधिकारियों ने मार्च महीने के पहले सप्ताह में आदेश जारी किए थे कि इन पैलेसों के वाटर सीवर कनैक्शन काट दिए जाएं। बिल्डिंग विभाग की ओर से पैलेसों का सारा डाटा नगर निगम के ओ. एंड एम. सैल को भेज दिया गया था परंतु उस विभाग ने आज तक एक भी पैलेस का वाटर सीवर कनैक्शन नहीं काटा बल्कि फाइलों को दबा लिया। दूसरी ओर निगम के कहने पर पावर कॉम ने अवैध पैलेसों पर कार्रवाई शुरू कर दी है और एक कनैक्शन काट भी दिया है। पावर कॉम द्वारा आने वाले दिनों में अवैध रूप से चल रहे बाकी पैलेसों पर भी ऐसी कार्रवाई की जा सकती है क्योंकि सभी पैलेसों की सूची पावर कॉम के विभिन्न डिवीजनों के पास पहुंच चुकी है। पैराडाइज एम्प्रैस पर कार्रवाई पावर कॉम के ईस्ट डिवीजन ने की है। जिनके अधिकारियों के पास इस क्षेत्र में चल रहे बाकी पैलेसों की सूची भी है।

  • 719
    Shares

LEAVE A REPLY