आयकर विभाग की बड़ी RAID, बरामद किया 50 किलो सोना, 10 करोड़ कैश


राजधानी लखनऊ में आयकर विभाग ने राजा बाजार निवासी बड़े प्रापर्टी डीलर और सर्राफा कारोबारी ‘रस्तोगी बंधु’ कन्हैया लाल रस्तोगी और संजय रस्तोगी के पांच ठिकानों से 36 घंटे की जांच के दौरान 50 किलो सोना और 10 करोड़ रुपये का कैश जब्त किया. विभाग की कार्रवाई में जो सोना जब्त किया गया है कि उसकी कीमत करीब 16 करोड़ रुपये आंकी जा रही है. छापेमारी में विभाग के अधिकारियों को रस्तोगी परिवार के नाम 98 करोड़ की अघोषित संपत्ति के दस्तावेज भी बरामद हुए हैं.

जानकारी के मुताबिक, बुधवार (18 जुलाई) को शुरू हुई छापेमारी के दौरान ये खुलासा हुआ कि ‘रस्तोगी बंधु’ के नाम से हवाला का कारोबार और सर्राफ का धंधा चलता है. ‘रस्तोगी बंधु’ के पुश्तैनी सूदखोरी के धंधे में 60 करोड़ रुपये से अधिक खपाए जाने का खुलासा हुआ भी है. ये छापेमारी आयकर (जांच) इकाई की लखनऊ और इलाहाबाद की टीम ने संयुक्त रूप एडीआईटी रवि मल्होत्रा के नेतृत्व में की गई.

आयकर विभाग के प्रवक्ता एवं डिप्टी कमिश्नर (जांच) जयनाथ वर्मा के मुताबिक, कन्हैया लाल रस्तोगी और बेटे के घर से 8.08 करोड़ की नकदी एवं 50 किलो सोने के बिस्किट और दो किलो सोने के गहने बरामद हुए. जबकि संजय रस्तोगी के घर से 1.13 करोड़ रुपये एवं 11.64 किलो सोना बरामद हुआ. इसमें से 8 करोड़ रुपये कन्हैया लाल रस्तोगी और 1.05 करोड़ रुपये संजय रस्तोगी के जब्त कर लिए गए. जबकि ‘रस्तोगी बंधु’ का करीब 50 किलो सोना पूरा जब्त कर लिया गया. इसकी कीमत करोड़ों में आंकी जा रही है. उन्होंने बताया कि कन्हैया लाल रस्तोगी ने रियल एस्टेट, फाइनेंस, सर्राफा की कई कंपनियां बना रखी हैं, जिसमें पत्नी अनीता रस्तोगी, बेटे उमंग रस्तोगी और तरंग रस्तोगी सहित अन्य सगे संबंधी बतौर निदेशक काबिज हैं.

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY