भारतीय सेना ने सौंपे सर्जिकल स्‍ट्राइक के वीडियो, मोदी सरकार सबूतों को सार्वजनिक करने के पक्ष में नहीं!


Surgical Attack

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नियंत्रण रेखा के पार आतंकवादी ठिकानों पर लक्षित हमलों के मद्देनजर सुरक्षा परिदृश्य पर चर्चा करने के लिए सुरक्षा मामलों पर कैबिनेट की समिति (सीसीएस) की बुधवार को अध्यक्षता की। सूत्रों ने बताया कि बैठक में नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा के साथ साथ आंतरिक इलाकों में हालात के बारे में जानकारी दी गई। एक रिपोर्ट के मुताबिक सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक के कुछ वीडियो रक्षा मंत्रालय को सौंप दिए हैं। सेना की ओर से सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो सौंपे जाने के बाद पीएम ने सुरक्षा मामलों पर बनी सीसीएस की बैठक ली।

सूत्रों के अनुसार, सेना ने सरकार को सर्जिकल स्ट्राइक का वीडियो सौंप दिया है। हालांकि अब यह सरकार के ऊपर है कि इसे सार्वजनिक किया जाए या नहीं। लेकिन सूत्रों के हवाले से यह भी कहा जा रहा है कि सरकार इस कार्रवाई के सबूतों को सार्वजनिक नहीं करने के पक्ष में है। रिपोर्टों के अनुसार, यह 90 मिनट का ड्रोन के जरिये रिकार्ड किया गया वीडियो है, जिसमें सेना के आतंकी कैंपों पर गिए गए हमले को रिकॉर्ड किया गया है। दूसरी ओर, सर्जिकल स्ट्राइक से बौखलाया पाकिस्तान लगातार इस प्रकार की कार्रवाई से इनकार कर रहा है। बता दें कि 28 सितंबर को सेना ने पीओके में आतंकी ठिकानों पर किए गए सर्जिकल स्‍ट्राइक को रिकॉर्ड किया था।

सूत्रों के अनुसार, एनएसए और खुफिया एजेंसियां सेना के सर्जिकल स्‍ट्राइक के वीडियो को सबूत के तौर पर जारी करने के खिलाफ है। बता दें कि खुफिया विभाग ने केंद्र सरकार को सर्जिकल स्‍ट्राइक से जुड़े हर पहलू की जानकारी दी है।

आगे पढें पूरी खबर