T-20 – आयरलैंड के खिलाफ सीरीज कब्जाने उतरेगा भारत


भारतीय टीम आयरलैंड के खिलाफ दूसरे और अंतिम टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में ‘ बेंच स्ट्रेंथ ’ को आजमाना चाहेगी ताकि इंग्लैंड के खिलाफ चुनौतीपूर्ण दौरे के लिये सभी को पिच का अंदाजा हो जाये। भारत ने आयरलैंड और इंग्लैंड के तीन महीने लंबे दौरे की शुरूआत शानदार तरीके से करते हुए आयरलैंड पर पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय में 76 रन से जीत दर्ज की। रोहित शर्मा और शिखर धवन के अर्धशतकों की बदौलत भारत ने पांच विकेट पर 208 रन का स्कोर खड़ा किया। फिर कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल ने मिलकर सात विकेट हासिल कर आयरलैंड को नौ विकेट पर 132 रन ही बनाने दिये।

इस मैच से संकेत मिल गया कि भारत की पसंदीदा अंतिम एकादश तीन महीने के ब्रेक के बाद भी शानदार तरीके से खेल रही है और इंग्लंड दौरे के लिये अच्छी तरह से तैयार है। लेकिन सबसे बड़ा सवाल ‘ बेंच स्ट्रेंथ ’ का है और लोकेश राहुल, दिनेश कार्तिक और उमेश यादव जैसे क्रिकेटरों को मौका देने का है। कप्तान विराट कोहली ने पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच के बाद कहा, ‘‘ हम मध्यक्रम में काफी प्रयोग करने जा रहे हैं। हम हर किसी को मैच में खिलाना चाहते हैं और उन्हें अपने कौशल को दिखाने का मौका देना चाहते हैं क्योंकि कई खिलाड़ी दौरे पर जाते हैं और उन्हें खेलने का मौका नहीं मिलता। ’’ भारत ने रोहित और धवन को दौरे के पहले सीमित ओवर चरण के लिये सलामी जोड़ी के पहले पसंदीदा विकल्प में चुना। इससे पुष्टि हो गयी कि जब भी मौका मिला तो राहुल मध्यक्रम में बल्लेबाजी करेंगे और यह बहुत जल्द अगले मैच में भी हा सकता है। कोहली की प्रतिक्रिया से यह अंदाजा नहीं लगता कि भारत गेंदबाजी आक्रमण में भी बड़े बदलाव करेगा या नहीं।

यादव और बेहतर करने को बेताब
मैच के बाद बात करते हुए उन्होंने यह जरूर कहा था कि ‘ टीम को देखते हुए बदलाव निश्चित हैं ’। फिर भी ऐसे कुछ खिलाड़ी हैं जिन्हें बाहर नहीं बिठाया जा सकता जैसे रोहित, धवन और खुद कोहली, धोनी और दो लेग स्पिनर। भारत को इस बात से फायदा होगा कि दूसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच की पिच के भी उसी तरह की होने की उम्मीद है जैसी पहले टी20 की थी। कुलदीप और चहल पिच से लाभ उठाने में सफल रहे और आयरलैंड के कप्तान गैरी विल्सन ने ता यहां तक कहा कि वे पहले गेंदबाजी करते या फिर बाद में, कोई फर्क नहीं पड़ता। वहीं भारत एक अतिरिक्त गेंदबाज को टीम में शामिल करने के लिये एक बल्लेबाज कम भी उतारने का जोखिम उठा सकता है। कोहली का बेंच खिलाडिय़ों को आजमाने का मंत्र गेंदबाजी आक्रमण में भी लागू किया जा सकता है जिसमें उमेश यादव और सिद्धार्थ कौल बेहतर करने को बेताब हैं। यह साफ देखा जा सकता था कि टीम प्रबंधन भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह को बाहर करने के लिये बिलकुल तैयार नहीं है।

वहीं कोहली दो गेंद खेलने के बाद शून्य पर आउट हो गए जिससे वह भी क्रीज पर कुछ समय बिताना चाहेंगे। हालांकि इस पर चिंता करना अभी जल्दबाजी होगी , हालांकि इससे 2014 में उनकी समस्याओं की याद ताजा हो जाती है जिसमें वह रन नहीं जुटा सके थे। टीम में बदलाव की बात छोड़ दें तो बल्लेबाजी और गेंदबाजी की मजबूती देखते हुए भारत दूसरे मैच में प्रबल दावेदार होगा। क्षेत्ररक्षण अलग मामला है और कोचिंग स्टाफ भारतीय खिलाडिय़ों से पहले टी20 की तुलना में बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद करेगा। पावरप्ले ओवर में तीन आउटफील्ड कैच छोड़े गये थे और इंग्लैंड जैसी मजबूत टीम ऐसी गलतियों का निश्चित रूप से फायदा उठाएंगी। जहां तक आयरलैंड की बात है तो 200 से ज्यादा का स्कोर उनकी पहुंच से काफी दूर था , उन्होंने क्रीज पर डटने का भरसक प्रयास किया लेकिन ऐसा नही कर सके। हालांकि अपनी सरजमीं पर वह हैरान भी कर सकता है।

टीमें इस प्रकार है 
भारत-
विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा , शिखर धवन , लोकेश राहुल , मनीष पांडे , सुरेश रैना , दिनेश कार्तिक , महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या , कुलदीप यादव , युजवेंद्र चहल , भुवनेश्वर कुमार , जसप्रीत बुमराह , उमेश यादव , सिद्धार्थ कौल।

आयरलैंड-
गैरी विल्सन (कप्तान और विकेटकीपर), एंड्रयू बलबिर्नी , पीटर चेज , जार्ज डकरेल , जोश लिटिल , एंडी मैब्राइन , केविन ओब्रायन , विलियम पोर्टरफील्ड , स्टुअर्ट पोंइटर , बोएड रैंकिन , जेम्स शैनोन , सिमी सिंह , पॉल स्टरलिंग , स्टुअर्ट थामसन। मैच भारतीय समयानुसार रात साढ़े आठ बजे शुरू होगा।

 

  • 719
    Shares

LEAVE A REPLY