इसरो चक्रवाती तूफान गाजा के खतरे के बीच लांच करेगा जीएसएलवी-एमके3/जीएसएटी-29


भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) चक्रवाती तूफान गाजा के खतरे के बीच 14 नवंबर को तमिलनाडु के श्रीहरिकोटा से संचार उपग्रह जीएसएटी-29 लांच करेगा। इसरो सूत्रों ने यूनीवार्ता को बताया कि 3,423 किलोग्राम वजनी उपग्रह को प्रक्षेपण वाहन जीएसएलवी-एमके3-डी2 के जरिए श्री हरिकोटा रेंज से प्रक्षेपित किया जाएगा।

मौसम विभाग ने 14 नवंबर को बंगाल की खाड़ी के ऊपर चक्रवाती तूफान गाजा को देखते हुए तेज बारिश की चेतावनी जारी की है। सूत्रों ने कहा कि चक्रवाती तूफान 15 नवंबर को उत्तरी तमिलनाडु के नागपट्टिनम और चेन्नई के बीच से गुजरेगा, इसलिए इस प्रक्षेपण में इससे कोई परेशानी नहीं होगी। चक्रवाती तूफान के गुरुवार को राज्य से होकर गुजरने का अनुमान है, इसलिए प्रक्षेपण में कोई बाधा उत्पन्न नहीं होगी।

isro will launch gslv mk3 gsat 29 between storm gaza threat
मौसम की स्थितियों को देखते हुए प्रक्षेपण के लिए सभी मौसम के अनुकूल लांच पैड और प्रक्षेपण यान उपलध रहेगा। सूत्रों ने कहा, प्रक्षेपण का समय गुरुवार शाम 15 बजकर आठ मिनट निर्धारित किया गया है। प्रक्षेपण मिशन की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र पर हुई प्रक्षेपण से जुड़ी आधिकारिक मंडल की बैठक में इस मिशन को अंतिम मंजूरी दे दी गई। प्रक्षेपण वाहन जीएसएलवी-एमके3-डी2 के जरिए उपग्रह जीएसएटी-29 को जियो स्टेशनरी कक्षा में स्थापित करेगा। उपग्रह को अपने लांचर से अलग होकर कक्षा में स्थापित होने में कई दिन का समय लगेगा।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY