पुलिस ने खालिस्तान कमांडो फोर्स के चरमपंथी को किया गिरफ्तार, 15 से अधिक मामलों में था वांछित


 

खालिस्तान कमांडो फोर्स (केसीएफ) के खतरनाक आतंकवादी कुलवंत सिंह उर्फ बंत उर्फ वलैतिया को सीआईए स्टाफ ने शुक्रवार की सुबह गिरफ्तार किया है। आरोपित केसीएफ संगठन में बतौर लेफ्टिनेंट जनरल रहते हुए कई बड़ी वारदातों को अंजाम दे चुका है। साल 1990 में वह भारतीय सुरक्षा एजेंसियों से बचते हुए जर्मन और इंग्लैंड फरार हो गया था। साल 2007 में वह किसी तरह भारत पहुंचा और फिर से लूटपाट और नशा तस्करी की वारदातों को अंजाम देने लगा। डीसीपी मुखविंदर सिंह ने बताया कि आरोपित से पूछताछ की जा रही है।

1990 में भारत छोड़ बस गया था इंग्लैंड

डीसीपी मुखविंदर सिंह ने बताया शुक्रवार को अमृतसर के सीआईए स्टाफ ने जालंधर काउंटर इंटेलिजेंस के साथ मिलकर जालंधर (देहाती) के आदमपुर थानांतर्गत पड़ते जगरावां गांव के कुलवंत सिंह उर्फ बंत उर्फ वलैतिया पुलिस को गिरफ्तार किया है। आरोपित के खिलाफ छेहरटा थाने की पुलिस ने 27 नवंबर 2013 को नशा तस्करी और हथियार रखने का मामला दर्ज किया था। तब से आरोपित फरार चल रहा था। डीसीपी ने बताया कि 1980 के दशक में कुलवंत सिंह उर्फ बंत उर्फ वलैतिया खालिस्तान कमांडो फोर्स में बतौर लेफ्टिनेंट जनरल रहते हुए देश विरोधी गतिविधियों में कई भूमिकाएं अदा कर चुका है। साल 1990 में वह किसी तरह देश छोड़कर जर्मन चला गया और साल 1994 में इंग्लैंड जाकर बस गया। साल 2007 में वह फिर भारत आ गया और खुफिया एजेंसियों को गच्चा देते हुए चंडीगढ़ में किराये का मकान लेकर रहने लगा।

आरोपित के इन साथियों की हो चुकी है मौत

डीसीपी ने बताया कि बंत उर्फ वलैतिया के साथी होशियारपुर के टांडा निवासी रत्न ङ्क्षसह, हाजीपुर निवासी दलजीत ङ्क्षसह, हाजीपुर सरियाना बेला गांव निवासी लैहंबर ङ्क्षसह, जालंधर देहाती के आदमपुर निवासी सुखदेव ङ्क्षसह उर्फ सुक्खा, बलबीर ङ्क्षसह उर्फ बिल्ला, भोगपुर के नंगल फीदा गांव निवासी जसङ्क्षवदर ङ्क्षसह उर्फ सेठ की मौत हो चुकी है


LEAVE A REPLY