इस खूबसूरत चेहरे के पीछे छिपा है खौफनाक सच – देखें तस्वीरें


लुधियाना जेल में बंद गैंगस्टर बिन्नी गुज्जर को पेशी दौरान पुलिस कस्टडी से भगाने की योजना बना रही ‘लेडी शूटर’ के नाम से प्रसिद्ध चंडीगढ़ की पहली महिला कैब ड्राइवर व उसके 2 साथियों को सी.आई.ए. स्टाफ ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों से अकाऊंटैंट से लूटी हुई कार सहित रिवाल्वर, पिस्टल, गोलियां व नशीला पाऊडर मिला है।

पुलिस कमिश्नर प्रवीण कुमार सिन्हा ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि एक युवती व 2 युवक किसी गैंगस्टर को पुलिस कस्टडी से छुड़वाने की योजना तैयार कर रहे हैं और सुभाना फाटक के पास से ब्रिजा गाड़ी से निकल सकते हैं। सी.आई.ए. स्टाफ के इंचार्ज अजय सिंह ने अपनी टीम सहित नाकाबंदी दौरान उक्त स्थान पर ब्रिजा गाड़ी को रुकने का इशारा किया लेकिन कार चालक ने कार भगाने की कोशिश की मगर पुलिस ने कार को घेर लिया। कार में एक युवती व 2 युवक सवार थे जिनकी पहचान नवदीप कौर पत्नी गुरविंद्र सिंह निवासी तलवंडी भाई फिरोजपुर, अनिल उर्फ सोनू पुत्र केवल किशन निवासी बाबा दीप सिंह रोड मोगा व गुरप्रीत सिंह गोपी पुत्र गुरमीत सिंह निवासी लांबड़ा के रूप में हुई।

नवदीप कौर वही महिला है जो चंडीगढ़ में पहली कैब ड्राइवर थी और मीडिया में भी उसकी चर्चा रही थी। आरोपियों ने मोहाली के अकाऊंटैंट इंद्रजीत सिंह को गन प्वाइंट पर लेकर ब्रिजा गाड़ी लूटी थी जबकि खुद भी वे ब्रिजा गाड़ी में सवार थे। पुलिस ने लूटी हुई ब्रिजा गाड़ी समेत वारदात में इस्तेमाल की गई गाड़ी भी कब्जे में ले ली है। तीनों को पुलिस ने कोर्ट में पेश करके 2 दिन के रिमांड पर लिया है। गुरप्रीत गोपी नवदीप कौर के पति का पुराना जानकार है। इन दोनों ने एक साथ कई वारदातें की हैं।

चलती कार से फायरिंग करने की आदी है नवदीप कौर
नवदीप कौर अपने गैंग में लेडी शूटर के नाम से जानी जाती है। इसका कारण यह है कि नवदीप कौर की ऐसी कई तस्वीरें और वीडियो हैं जिनमें वह रिवाल्वर और देसी कट्टे के साथ नजर आ रही है। चलती कार से फायरिंग करना उसकी आदत थी। पुलिस ने आरोपियों के फोन से जो वीडियो मिली है कि उसमें नवदीप कौर चलती कार से फायरिंग कर रही है जबकि एक वीडियो में वह खेतों में फायरिंग कर रही है। उसने पिस्टल व देसी कट्टे पकड़ कर कई फोटो खिंचवा रखी है।

पति ने ही नवदीप से मिलवाए थे अपने साथी
कैब चालक नवदीप का पति गुरविन्द्र सिंह इस समय 6 बैंकों में डकैतियां करने के केस में बुड़ैल जेल में बंद है जबकि जेठ यादविन्द्र सिंह भी इसी केसों में फिरोजपुर जेल में बंद है। गिरफ्तार आरोपी गुरप्रीत सिंह के खिलाफ थाना बस्ती बावा खेल में कार लूटने, असला एक्ट, लड़की से छेडख़ानी व कुकर्म के केस दर्ज हैं। गोपी व गुरविन्द्र एक-दूसरे के करीबी जानकार हैं। गुरप्रीत सिंह गोपी जब जमानत पर आया तो जेल में बंद गुरविंद्र ने उसे फोन करके अपनी पत्नी नवदीप कौर से मिलने को कहा था। गोपी ने बाहर जाते ही नवदीप से सम्पर्क किया और उसे भी अपने गैंग में शामिल कर लिया। इसके बाद नवदीप कैब चलाने के साथ-साथ गैंग के लिए भी काम करती थी। गोपी ने नवदीप को अपनी बहन बना रखा था।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY