कोई टीचर नहीं हुआ गिरफ्तार, प्रिंसिपल को क्लीन चिट


atharva-gupta-759

पक्खोवाल रोड स्थित डीएवी पब्लिक स्कूल की आठवीं क्लास के स्टूडेंट अथर्व को बेहरमी से पीटने के मामले की जांच को पुलिस कमिशनर जतिंदर औलख द्वारा गठित स्पेशल इंवेस्टीगेशन टीम ने प्रिंसिपल सतवंत कौर को क्लीन चिट दे दी। कमेटी के अनुसार मामले में उनका कोई लेनदेन होने से उन्हें बरी कर दिया गया, जबकि मामले में शामिल चारों टीचर्स गोपाल दास, राजीव पनवर, नवीन और तेजिंदर कौर को नामजद किया गया है। पहले पुलिस ने जांच के बाद धारा 308 जोड़ने की बात कही थी। तीन दिन बाद ही धारा बदल दी गई। गौर हो कि 8 सितंबर को स्कूल में हुए हादसे के बाद पुलिस ने पहले प्रिंसिपल समेत अन्य चार टीचर्स पर मारपीट करने, सबूत मिटाने, जूवेनाइल एक्ट का केस दर्ज किया था। बाद में स्कूल द्वारा दोबारा इंक्वायरी की मांग पर एडीसीपी र| बराड़ और एसीपी हरकमल कौर की टीम गठित की गई थी।

इस संबंध में आयोजित प्रेस काॅन्फ्रेंस में एडीसीपी ने बताया कि कमेटी ने मौके पर जाकर जांच की और खुफिया तौर पर मामले की पड़ताल करके अथर्व के बयान भी लिए। मेडिकल रिपोर्ट में चोट नंबर 2 डेंजर टू लाइफ आने पर धारा 308 जोड़ दी गई थी। कमेटी ने कई पहलुओं से जांच की तो पता चला कि उक्त चार टीचरों गोपाल दास, राजीव, नवीन और तजिंदर कौर द्वारा ही अथर्व गुप्ता से मारपीट, शारीरिक और मानसिक परेशानी देना सामने आया है, इसमें प्रिंसिपल का कोई संबंध नहीं है। रिपोर्ट पर कानूनी सलाह लेकर धारा 308 को भी कम कर दिया गया और मामले में जूवेनाइल एक्ट बढ़ा दिया गया। आरोपियों को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

आगे पढें पूरी खबर