महानगर के आर्किटेक्ट ने दिया बुड्ढे नाले को स्मार्ट बनाने का प्लान


बुड्ढे नाले का प्रदूषण विकराल रूप धारण कर चुका है, जिसका प्रभाव शहरियों के जनजीवन पर पड़ रहा है। कई वर्षों से लटक रही इस समस्या का समाधान निकालने के कई बार प्रयास किए लेकिन असफलता ही हाथ लगी। महानगर में पर्यावरण के प्रति लोगों में आई जागृति की भनक राजनीतिज्ञों व प्रशासन को लग गई है, जिससे फिर से आशा की किरण नजर आई है। यदि राजनेता व अधिकारी ईमानदारी से इस समस्या को हल करने का संकल्प लें तो यह नाला दरिया में बदल सकता है।

लगभग 34 कि.मी. लंबा यह दरिया किसी समय बरसात के पानी की निकासी का चैनल होता था, जो सतलुज में जा मिलने से पहले अपना आधा सफर लुधियाना शहर से होकर पूरा करता था। समय के साथ पानी का प्रदूषण बढ़ा, गंदगी बढ़ी व शहर की आबादी बढऩे के साथ-साथ दरिया ने गंदे नाले का रूप धारण कर लिया। इसके जिम्मेदार सरकारें, प्रशासन व स्वयं शहर की जनता है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY