महिलाओं के लिये मेकअप ब्रश बनाने के लिए दी जाती थी नेवलों की बलि, सालाना 50 हजार नेवलों का होता है कत्ल – हुआ भंडाफोड़


mongoose hair are used for making makeup and paint brush at Uttar Pradesh

भारत में इस जगह महिलायें अपने मेकअप और कलाकार चित्रकला के लिए जिस ब्रश का उपयोग करते है वह दरअसल नेवले के बालों से बनाया जाता था। ब्रश बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाले इन बालों को प्राप्त करने के लिए सालाना 50 हजार नेवलों की बलि तस्कर चढ़ा देते हैं जोकि वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल ब्यूरो के अनुसार एक अपराध है। साल 2018 में वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल ब्यूरो ने नेवलों के बालों से ब्रश बनाने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया था।

बड़ी मात्रा में नेवलों के बाल मिलने से हैरत में अधिकारी

जानकारी के मुताबिक 30 सितम्बर को वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल ब्यूरो और उत्तर प्रदेश वन विभाग ने संयुक्त रूप से बिजनौर जिले के शेरकोर गांव के घरों व फैक्टरियों में छापेमारी कर नेवले के बाल व उससे बने ब्रश जब्त किए थे। इस दौरान पता चला था कि ब्रश बनाने के लिए 20 हजार से अधिक नेवलों की हत्या की गई थी। इतनी बड़ी मात्रा में नेवलों के बाल और ब्रश मिलने से वन विभाग के अधिकारी भी हैरत में थे। नेवलों के बालों से बनाए गए ब्रश 3 रुपए से 100 रुपए में बेचे जाते हैं। हाल ही में 10 दिसम्बर को वाइल्ड लाइफ क्राइम कंट्रोल ब्यूरो ने देश भर में 23 जगह छापेमारी कर भारी मात्रा में नेवलों के बाल व उससे बने ब्रश बरामद किए थे। वन विभाग के अधिकारियों की मानें तो नेवलों के बाल के पार्सल एयपोर्ट पर स्कैनर मशीन आदि में पकड़ में नहीं आते हैं। इसलिए तस्कर व शिकारी नेवले के बालों को देशभर में सप्लाई कर रहे हैं।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY