एक बार फिर बजा भारत का डंका, दिल्ली, मुंबई विश्व के नंबर 1 हवाई अड्डे


परिषद् ने बुधवार को यहाँ आयोजित समारोह में वर्ष 2017 के प्रदर्शन के आधार पर विभिन्न श्रेणियों में हवाई अड्डों को पुरस्कृत किया जिसमें भारत के 11 हवाई अड्डे शामिल हैं। दिल्ली और मुंबई हवाई अड्डों को सालाना चार करोड़ से ज्यादा यात्रियों की आवाजाही वाले हवाई अड्डों में दुनिया में सर्वश्रेष्ठ चुना गया है। इस श्रेणी में दुनिया के सभी बड़े हवाई अड्डे आते हैं। इन दोनों को एशिया-प्रशांत क्षेत्र में किसी भी श्रेणी का सर्वश्रेष्ठ हवाई अड्डा भी घोषित किया गया।

यह पुरस्कार हवाई अड्डों की सेवा गुणवत्ता के आधार पर दिया जाता है। परिषद् ने बताया कि इस बार की सूची में 15 नये हवाई अड्डे शामिल हैं। बीस लाख से कम यात्रियों की आवाजाही वाले हवाई अड्डों में इंदौर को पुरस्कृत किया गया है। बीस से 50 लाख यात्रियों की श्रेणी में लखनऊ को पहला स्थान दिया गया है। हैदराबाद हवाई अड्डे को 50 लाख से एक करोड़ 50 लाख यात्रियों की श्रेणी में सर्वश्रेष्ठ घोषित किया गया है जबकि इसी श्रेणी में कोचीन, कोलकाता और पुणे हवाई अड्डों को संयुक्त रूप से तीसरे स्थान पर रखा गया है। डेढ़ करोड़ से ढाई करोड़ यात्रियों की आवाजाही वाली श्रेणी में बेंगलुरु दुनिया में दूसरे तथा चेन्नई हवाई अड्डा तीसरे स्थान पर रहा।

वहीं, अहमदाबाद को एशिया प्रशांत क्षेत्र में सेवा में सबसे ज्यादा सुधार के लिए पुरस्कृत किया गया है। चार करोड़ से ज्यादा यात्रियों की आवाजाही की श्रेणी में बीजिंग और शंघाई पुडोंग हवाई अड्डों को संयुक्त रूप से दूसरा तथा ताइपेई ताओयूआन हवाई अड्डे को तीसरा स्थान दिया गया है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY