मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू बड़े विवाद में फंसे – सिद्धू का खालिस्‍तानी आतंकी गोपाल चावला संग फोटो हुआ वायरल


29_11_2018-sidhuchawala_18693598

फायर ब्रांड नेता और पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू एक बार फिर अपने पाकिस्‍तान दौरे को लेकर विवाद में आ गए हैं। वह खालिस्‍तानी आतंकी गोपाल सिंह चावला के साथ नजर आए हैं और चावला के साथ उनकी फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है। यह फोटो चावला नाम से बने फेसबुक वॉल पर नजर आ रहा है। बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्‍तान के करतारपुर में कॉरिडोर के शिलान्‍यास समारोह में भाग लेने वहां गए थे। इस समारोह में केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल और हरदीप पुरी भी शामिल हुए थे। बुधवार को आयोजित समारोह में पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने पाक में बनने वाले कॉरिडोर के हिस्‍से का शिलान्‍यास किया था। इस समारोह में खालिस्‍तानी आतंकी गोपाल सिंह चावला के भी नजर आने से विवाद पैदा हो गया है।

इसके बाद वीरवार को चावला की नवजोत सिंह सिद्धू के साथ फोटो वायरल होने पर सनसनी फैल गई। गोपाल सिंह चावला के नाम से बने फेसबुक अकाउंट पर डाली गई फोटो में सिद्धू के साथ चावला नजर आ रहा है। इसमें चावला के हवाले से लिखा गया है- ‘ विथ सिद्धू पा जी’। इस फोटो के वायरल होने के बाद विवाद पैदा हो गया है। अभी सिद्धू की ओर से इस पर कुछ नहीं कहा गया है और इस फोटो की सत्‍यता के बारे में भी कोई पुष्टि नहीं हो रही है, लेकिन इस पर बवाल होना तय लग रहा है। बता दें कि सिद्धू पाकिस्‍तान के अपने पिछले दौरे के समय पाक आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा से गले मिलने के कारण निशाने पर आ गए थे। सिद्धू पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में गए थे और उसी दौरान वह बाजवा से गले मिले थे। इस पर उनकी काफी किरकिरी हुई थी। वह इस बार पाकिस्‍तान गए तो उनसे इस बारे में पाकिस्‍तानी मीडिया ने भी सवाल किया था। इसके जवाब में सिद्धू ने फिर विवादित बात कह दी। उन्‍होंने कहाकि जनरल बाजवा से गले मिलना रॉफेल डील जैसा तो नहीं था।

अमन की बात करने वाले पाकिस्तान का असली चेहरा बुधवार को उस समय सामने आ गया जब श्री करतारपुर साहिब गुरुद्वारा कॉरिडोर के शिलान्‍यास समारोह में खालिस्तानी आतंकी गोपाल सिंह चावला दिखा। इस दौरान चावला ने पाक सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा से हाथ भी मिलाया। भारतीय सुरक्षा एजेंसियों का कहना है कि चावला आइएसआइ के लिए सक्रिय रूप से काम करता है। चावला का नाम इसी महीने अमृतसर के अदलीवाल में निरंकारी भवन पर आतंकी हमले की साजिश में नाम आया था। इस हमले में तीन लोगों की मौत हो गई थी और 22 लोग जख्मी हुए थे। गोपाल सिंह चावला पाकिस्तान सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी का महासचिव है और उसे 26/11 मुंबई हमले के मास्टरमाइंड हाफिज सईद का करीबी माना जाता है। 21 व 22 नवंबर को भारतीय उच्चायोग के राजनयिक अधिकारियों के साथ गुरुद्वारा ननकाना साहिब में बदसुलूकी में भी चावला का नाम सामने आया था। चावला पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ व लश्कर-ए-तैयबा चीफ हाफिज सईद के साथ मिलकर पंजाब में आतंक फैलाने की साजिश रच रहा है।

कुछ माह पहले मुंबई आतंकी हमले के मास्टर माइंड हाफिज सईद के साथ उसकी एक तस्वीर वायरल हुई थी।

तीन माह पहले खालिस्तानी समर्थकों व आइएसआइ के बीच एक मीटिंग भी हुई थी। इसमें चावला भी मौजूद था। इसके अलावा रेफरेंडम 2020 के बहाने यह पंजाब के युवाओं को बहका रहा है। इसी मामले में सुरक्षा एजेंसियों को इसकी तलाश है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY