खाने की खराब क्वॉलिटी पर रेलवे ने 16 कैटरर्स को काम से हटाया


ट्रेनों और रेलवे स्टेशन पर खराब खाने से परेशान यात्रियों की शिकायतों का सिलसिला आम ही बात हो गई है। ऐसी ही शिकायतों पर ऐक्शन लेते हुए रेलवे ने 16 कैटरर्स को काम से हटा दिया है। शुक्रवार को राज्यसभा रेल राज्य मंत्री राजन गोहेन ने कहा कि यात्रियों की शिकायतों पर ऐक्शन लेते हुए इनके कॉन्ट्रैक्ट्स खत्म कर दिए गए। चाय की केतली के साथ वेंडर्स के टॉइलट से बाहर निकलने के एक वायरल विडियो के सवाल पर मंत्री ने कहा कि इस बात के सबूत नहीं मिले हैं कि वेंडर ने टॉइलट के पानी से चाय बनाई थी लेकिन इस मामले में शामिल कैटरर के खिलाफ कड़ा ऐक्शन लिया गया।

बता दें कि पिछले दिनों चारमीनार एक्सप्रेस का एक विडियो वायरल हुआ था, जिसमें वेंडर चाय के साथ टॉइलट से निकलता दिख रहा है। ऐसी गलतियों पर जीरो-टोलरेंस की नीति का हवाला देते हुए मंत्री ने कहा, ‘वित्त वर्ष 2017-18 में हमने 16 कॉन्ट्रैक्ट्स को रद्द कर दिया और कैटरिंग सर्विसेज में चूक पर 4.87 करोड़ रुपए का फाइन लगाया गया।’

‘टॉइलट में आपात बटन की योजना नहीं’
रेल राज्य मंत्री ने टॉइलट्स में इमरजेंसी बटन के सवाल पर कहा कि ऐसी फिलहाल कोई योजना नहीं है। रेल राज्य मंत्री राजन गोहेन ने राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में बताया कि महिला यात्रियों की सुरक्षा को बेहतर बनाने संबंधी महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के सुझावों में रेलगाड़ियों के शौचालयों को आपात बटन से लैस करने का भी सुझाव मिला था। उन्होंने कहा कि रेलगाड़ी को आपात स्थिति में रोकने के लिए प्रत्येक डिब्बे में अलार्म चेन सिस्टम की सुविधा पहले से दी जा रही है। इसलिए आपात बटन लगाने के विचार पर फिलहाल विचार नहीं किया गया है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY