रणजीत सागर झील का जलस्तर 526.27 मीटर तक पहुंचा


रणजीत सागर बांध परियोजना की झील में वर्षा न होने पर भी पहाड़ों व चमेरा प्रोजैक्ट से लगातार भारी मात्रा में पानी का बहाव आ रहा है। इससे बांध परियोजना की झील में जलस्तर 526.27 मीटर तक पहुंच गया है, जोकि खतरे की सीमा से मात्र कुछ मीटर ही कम है।

बांध प्रशासन के एस.ई. हैडक्वार्टर एस.के. गुप्ता अनुसार इस समय बांध परियोजना की झील में चमेरा प्रोजैक्ट तथा पहाड़ों से 24,200 क्यूसिक पानी का बहाव आ रहा है। इससे बांध परियोजना की झील में जलस्तर एक दिन में एक मीटर 32 सैंटीमीटर तक बढ़ा है। वहीं पर बांध प्रशासन ने गत दिवस बांध परियोजना का एक रेडियल गेट पूरा दिन खोल कर 9660 क्यूसिक पानी का बहाव माधोपुर हैडवर्क्स की ओर छोड़ा गया तथा गत दिवस सायं 7 बजे उक्त आपातकालीन रेडियल गेट को बंद किया गया।

उन्होंने बताया कि इस समय बांध परियोजना के दो यूनिटों से 9660 क्यूसिक पानी का बहाव छोड़ा जा रहा है तथा माधोपुर हैडवक्र्स से पाकिस्तान की तरफ 15 हजार क्यूसिक पानी छोड़ा जा रहा है, जिससे अभी भी निचले क्षेत्रों में बाढ़ जैसी स्थिति बनी हुई है। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही एम.बी. ङ्क्षलक नहर में 1200 क्यूसिक तथा यू.बी.डी.सी में तीन हजार क्यूसिक पानी का बहाव छोड़ा जा रहा है। आर.एस.डी. की झील में इस समय का अधिकतम जलस्तर भविष्य में बिजली उत्पादन व सिंचाई के लिए वरदान साबित होगा।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY