बिना फोटो के नेपाली चोर को पकडऩा पुलिस के लिए चुनौती


लुधियाना – पुलिस वैरीफिकेशन करवाए बिना गुरदेव नगर में टैक्टर पार्ट्स कारोबारी द्वारा घर में रखे नेपाली नौकर विक्रम तक पहुंचने का पुलिस लगातार प्रयास कर रही है, लेकिन 24 घंटे गुजर जाने पर कोई कामयाबी हाथ नहीं लगी है। वहीं दूसरी तरफ पुलिस की तरफ से महानगर में लगे स्मार्ट सिटी के कैमरों की मदद ली जा रही है।पुलिस के अनुसार गुरदेव नगर से फरार होने के बाद चोर इटयोस कार को भारत नगर चौक के रास्ते गिल रोड, प्रताप चौक से होते हुए ट्रांसपोर्ट नगर चौक गए हैं जहां लगे कैमरों में कार की आखिरी फुटेज आई है। इसके बाद न तो कार और न ही चोरों के बारे कुछ पता चल पाया है।

दोस्त की फोटो से सोल्व कर रही पुलिस केस
पुलिस के अनुसार चोरी 3 नेपाली दोस्तों ने एक साथ मिलकर की है। पुलिस ने जब विक्रम के मोबाइल की डिटेल निकलवाई तो उसमें पता चला कि सुबह से ही उसकी कार साफ करने वाले दोस्त करण और एक अन्य नेपाली के साथ लगातार बातचीत होती रही है। पुलिस को यकीन कि उन्होंने चोरी की वारदात को एक साथ अंजाम दिया है। पुलिस मोबाइल डिटेल से जांच को आगे बढ़ा रही है। पुलिस के अनुसार घर में लगे कैमरों की डी.वी.आर. को कब्जे में लिया गया था लेकिन जांच आगे बढ़ाने पर पता चला कि अप्रैल महीने से ही उसमें रिकाॄडग नहीं हो रही। जिस कारण पुलिस को कोई फुटेज नहीं मिल सकी। चाहे पुलिस को पता चल चुका है कि चोरी नेपाली नौकर विक्रम ने की है, लेकिन न तो पुलिस के पास उसकी फोटो है और न ही कोई रिकार्ड। जिस कारण पुलिस के लिए उसे पकडऩा किसी चुनौती से कम नहीं है। पुलिस के पास उसे काम पर रखवाने वाले करण की फोटो है, जिसके सहारे पुलिस इस केस को सोल्व करने में लगी हुई है। अगर दोनों चोरी के बाद अलग-अलग जगह पर भागे हैं तो पुलिस के लिए उसे पकडऩा भी काफी मुश्किल है। वहीं अगर पुलिस के हाथ कोई संदिग्ध लगता है तो पहले घर के मालिक को उसकी फोटो दिखानी होगी, क्योंकि केवल उन्हें ही चोर का चेहरा पता है।

नेपाल गई बस में नहीं थे आरोपी
पुलिस के अनुसार वीरवार को नेपाल सिर्फ एक ही बस गई थी। लुधियाना पुलिस की तरफ से नेपाल पुलिस के साथ संपर्क साधा गया है, लेकिन चोर अभी तक नेपाल नहीं गए हैं। वहीं पुलिस द्वारा शहर के सभी रेलवे स्टेशनों, बस स्टैंडों पर लगे कैमरों की फुटेज खंगाली जा रही है।

पंजाब, दिल्ली के ज्वैलरों के साथ संपर्क
सूत्रों के अनुसार पुलिस की तरफ से पंजाब, दिल्ली के सभी ज्वैलरों के साथ संपर्क साधे हुए है, ताकि अगर चोर वहां सोना बेचने जाते हैं तो पुलिस को पता चल सके। पुलिस के अनुसार अभी तक सोना बेचा नहीं गया है।

टोल टैक्सों की खंगाली जा रही फुटेज
पुलिस शहर से बाहर जाने वाले सभी रास्तों में आने वाले टोल टैक्स पर लगे कैमरों की फुटेज खंगाल रही है। पुलिस के अनुसार अभी तक वहां से भी चोरी की कार क्रास नहीं हुई है।

यह था मामला
वीरवार को 10 दिन पहले रखे 18 वर्षीय नेपाली नौकर ने घर पर दिन-दिहाड़े हाथ साफ कर दिया। चोर घर से 100 तोले सोने के आभूषण, 9 लाख कैश और इटयोस कार ले गया। इस मामले में थाना डिवीजन नं.5 की पुलिस ने घर के मालिक मधु के बयान पर चोरी का केस दर्ज किया।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY