बहन सुदीक्षा होंगी संत निरंकारी मिशन की आध्यात्मिक प्रमुख


sant nirankari mission spiritual chief will be sister sudiksha

बहन सुदीक्षा निरंकारी मिशन की छठी सत्गुरु व आध्यात्मिक प्रमुख होंगी। वह निरंकारी बाबा हरदेव सिंह व सत्गुरु माता सविंदर हरदेव महाराज की छोटी बेटी हैं। सत्गुरु माता सविंदर हरदेव जी महाराज के आशीर्वाद से बहन सुदीक्षा को मिशन का छठा सत्गुरु घोषित किया गया। इस संबंध में औपचारिक समारोह मंगलवार को दिल्ली में बुराड़ी रोड स्थित निरंकारी आध्यात्मिक स्थल, ग्राऊंड नंबर 8 में प्रात: 11 बजे से सत्गुरु माता सविंदर हरदेव जी महाराज की छत्रछाया में सम्पन्न होगा। बाबा हरदेव सिंह व सत्गुरु माता सविंदर हरदेव सिंह की 3 बेटियां समता, रेणुका व सुदीक्षा हैं, जिनमें सुदीक्षा सबसे छोटी बेटी हैं। मई 2016 में कनाडा के मोंटरियल में हुए हादसे में जब निरंकारी बाबा हरदेव सिंह महाराज निरंकार लीन हुए थे, तब हादसे में बाबा जी के सबसे छोटे दामाद व सुदीक्षा के पति अवनीत सेतिया का भी निधन हो गया। कुछ महीने पहले ही दिल्ली में बहन सुदीक्षा जी का फिर से विवाह किया गया है।

जब बाबा हरदेव सिंह जी सड़क हादसे में निरंकार लीन हुए थे, उस वक्त भी पांचवें सत्गुरु के तौर पर बहन सुदीक्षा का नाम काफी चर्चा में आया था। हालांकि बाद में बाबा जी की धर्मपत्नी सत्गुरु माता सविंदर हरदेव जी महाराज ने पांचवें सत्गुरु के तौर पर सेवा संभाली थी। सूत्र बताते हैं कि सत्गुरु माता सविंदर हरदेव जी का स्वास्थ्य पिछले कुछ समय से ठीक नहीं चल रहा है। माता जी चाहते थे कि उनके स्वास्थ्य का असर मिशन के प्रचार व प्रसार पर नहीं पड़ना चाहिए, इसलिए मिशन के प्रचार को गतिमान बनाए रखने के लिए ही उन्होंने बहन सुदीक्षा जी को छठा सत्गुरु व आध्यात्मिक प्रमुख घोषित किया है।

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY