म्यांमार तक दुश्मनों को धूल चटा चुके हैं ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ के यह ‘चाणक्य’


Default (6)

देश के लिए मरने-मिटने की बात हो या फिर बहादुरी दिखाने का मौका, पंजाब के लोग दोनों ही  मामले  में  काफी आगे रहे हैं। दुश्मन की जमीन पर जाकर उसके दांत खट्टे कर बिना किसी  नुक्सान  के अपनी धरती पर लौट आने का जो पराक्रम आजकल देशभर में चर्चित है उसका हीरो भी पंजाब से ही संबंधित है।

पंजाब का हीरो है लै. जनरल रनबीर सिंह 
पाक अधिकृत कश्मीर (पी.ओ.के.)  में आतंकवादियों के खिलाफ चले सर्जिकल स्ट्राइक में सैन्य अभियान निदेशालय के महानिदेशक (डी.जी.एम.ओ.) लै. जनरल रनबीर सिंह पंजाब के होशियारपुर जिले के गांव कंदाला जट्टां में पैदा हुए हैं। गढ़दीवाल के पास स्थित इस गांव में हरभजन सिंह के घर पैदा हुए रनबीर सिंह बचपन से ही प्रतिभावान रहे हैं। रनबीर सिंह के 3-4 वर्ष की आयु में ही उनके पिता की मृत्यु हो गई, जिसके बाद उनका पालन-पोषण उनके चाचा मनमोहन सिंह ने किया। यह मनमोहन सिंह कोई आम व्यक्ति नहीं, बल्कि सेना में तैनात रह कर देश सेवा कर चुके कर्नल मनमोहन सिंह हैं, जो उप निदेशक सैनिक भलाई बोर्ड में ऊंचे पद पर भी रहे हैं।

आगे पढ़ें पूरी खबर