झेलम एक्सप्रेस हादसे की जांच को तीन टीमें गठित, अलग एंगलों से जांच करने के निर्देश


Express

लुधियाना – लाडोवाल फिल्लौर के बीच सतलुज पुल पर मंगलवार को तड़के जम्मू से पुणे जा रही झेलम एक्सप्रेस के 10 कोच पटरी से उतरने के मामले में नॉर्दन रेलवे के जनरल मैनेजर एके पूथिया ने अलग-अलग एंगलों से जांच करने के निर्देश दिए हैं। टेक्नीकल, सुरक्षा, ऑपरेटिंग इंजीनियर एंगल से जांच करने के लिए बड़ौदा हाउस के ए-ग्रेड तीन अफसरों की टीम नियुक्त की गई है।

इनमें चीफ सेफ्टी अफसर नीरज कुमार, चीफ रोलिंग स्टॉक इंजीनियर बीसी शर्मा और चीफ इंजीनियर टीएसटी आरके झा शामिल हैं। इसके अतिरिक्त डिवीजनल स्तर पर जांच करने के लिए चार अफसरों की टीम बनाई गई हैं। इसमें सीनियर डिवीजनल मैकेनिकल इंजीनियर(डीएमई) कॉशन एंड वेगन रमणीक सिंह, सीनियर डिजीजनल इंजीनियर कोऑर्डिनेट दिनेश कुमार, सीनियर डिवीजनल ऑपरेटिंग मैनेजर जगतोश शुक्ला और सीनियर डिवीजनल सेफ्टी (डीएसई) मो. जैड खान शामिल हैं। इसके अलावा डिपार्टमेंट की तरफ से इंटेलीजेंस विंग की टीमें भी गठित की गई है। जो सुरक्षा के कारणों अफसरों की लापरवाही को लेकर अपनी रिपोर्ट तैयार करेगी। अधिकारिक सूत्रों के अनुसार इस ट्रैक पर एक दिन पहले ही कम स्पीड पर ट्रेन चलाने की चेतावनी खत्म की गई थी।

आगे पढें पूरी खबर