अपनी बेटी की ममता में अंधी हुई महिला प्रोफैसर ने रची थी पति के कत्ल की साजिश


लुधियाना – अपनी बेटी की ममता में अंधी हुई महिला प्रोफैसर ने खुद ही अपने पति का कत्ल करवा डाला। उसने यह काम अपनी बेटी के प्रेमी से करवाया। पहले तो आरोपी महिला इसे कत्ल व लूटपाट का मामला बताती रही, लेकिन पुलिस से वह अपना यह घिनौना अपराध नहीं छिपा पाई। पुलिस के अनुसार आरोपी महिला को उसकी बेटी ने कहा था कि उसका शराबी पिता उस पर बुरी नजर रखता है। अब यह बात कितनी सच है यह तो पुलिस जांच कर रही है, लेकिन मरने वाला शख्स अक्सर उनसे मारपीट करता था, जिससे वह बहुत दुखी थी। पुलिस कमिश्नर सुखचैन सिंह गिल ने बताया कि हैबोवाल के अजीत नगर की रहने वाली आरोपी प्रोफैसर महिला गीता सग्गड़ ने ही पुलिस को कॉल करके अपने पति के कत्ल व लूटपाट की सूचना दी थी। वह सिविल लाइन इलाके में एक शिक्षण संस्थान में पिछले डेढ़ दशक से पंजाबी की प्रोफैसर है। हालांकि गीता व उसकी 19 वर्षीय बेटी सुदीक्षा ने अपना जुर्म छुपाने के लिए पुलिस को गुमराह करने में कोई कसर नहीं छोड़ी, लेकिन उनके द्वारा बताई गई कहानी पुलिस के गले नहीं उतर रही थी।

जिस पर ए.डी.सी.पी. गुरप्रीत पुरेवाल, ए.सी.पी. गुरप्रीत सिंह व थाना प्रभारी सब इंस्पैक्टर परमदीप सिंह ने तत्काल हरकत में आते हुए मामले की छानबीन शुरू कर दी। कत्ल के वक्त मां-बेटी पर ही घर पर थी। पुलिस को यह बात खटक रही थी कि आखिर कातिल घर में दाखिल कैसे हुए। बिना फ्रैंडली एंट्री के घर में दाखिल होना संभव नहीं था। जबकि वारदात के वक्त मृतक कुलदीप कुमार का छोटा भाई हरदीप कुमार अपनी ड्यूटी पर गया हुआ था।छानबीन में वह निर्दोष पाया गया।

परंतु गीता के मोबाइल की काल डिटेल चैक की गई तो पुलिस के कान खड़े हो गए। कत्ल की रात को उसकी कई बार एक नंबर पर बात हुई थी। सख्ती करने पर सारी सचाई सामने आ गई। जिस पर पुलिस ने सुदीक्षा के 21 वर्षीय प्रेमी तरूण उर्फ तेजपाल सिंह भाटी को काबू कर लिया, जोकि हम्बड़ां रोड के पंज पीर रोड के मेहर सिंह नगर का रहने वाला है। उसकी मैडीकल की शॉप है। वह प्राइवेट तौर पर बी.ए. सैकेंड ईयर कर रहा है। इसके बाद पुलिस ने सुदीक्षा का मोबाइल भी बरामद कर लिया, जो उसने छत पर छुपा कर रखा हुआ था और वह चुन्नी और खून से सना तोलिया भी जब्त कर लिया गया, जो वारदात में इस्तेमाल हुआ था।

आगे पढ़ें पूरी ख़बर 

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY