कश्मीर घाटी में हुई मुठभेड़ में मारा गया सबसे कम उम्र का आतंकी, अगस्त में घर से गायब हुआ था 14 साल का मुदसिर


terroris mudasir rashid parare

कश्मीर में सुरक्षाबलों ने अब तक के सब से कम उम्र के आतंकी समेत 3 लश्कर के आतंकियों को ढेर कर दिया. इस मुठभेड़ में सेना का जवान और 3 नागरिक घायल हुए. ये मुठभेड़ 18 घंटों तक चली. श्रीनगर के बाहरी इलाक़े मजगुंड में आज हुई मुठभेड़ एक आम मुठभेड़ की तरह ही थी, मगर इस में मारे गए आतंकियों में एक आतंकी, कश्मीर घाटी के आतंकवाद के इतिहास में अब तक का सब से कम उम्र का आतंकी था. ये आतंकी था 14 साल का मुदसिर राशिद पररे. मुदसिर इसी वर्ष अगस्त के महीने में बंदिपोरा के हजिन गावों से अपने घर से गायब हुआ था. इसी हफ़्ते के शुरू में सोशल मीडिया पर उसकी बंदूक़ लेकर तस्वीर सामने आई थी. मुदसिर हजिन गावों में अगस्त के महीने में हुई मुठभेड़ के बाद ही लापता था. तब उसके परिवार ने उसे घर वापस लौटने के लिए सोशल मीडिया पर अपील भी जारी की थी. मगर मुदसिर नहीं लोटा.

एक पुलिस अधिकारी मुदसिर के मरने की पुष्टि करते कहा, “हम नहीं जानते कि वह 14 या 16 वर्ष का था, मगर युवा दिखता था अब तक इतना छोटा आतंकी नहीं दिखा है.” बांदीपोरा जाने वाले रोड पर मजगुंड क्षेत्र में आतंकवादियों के छिपे होने के बारे में एक विश्वसनीय इनपुट के आधार पर शनिवार को पुलिस और सुरक्षाबलों ने एक तलाशी अभियान शुरू किया था. अभियान के दौरान, छिपे हुए आतंकवादियों ने तलाशी दल पर गोलियाँ चलाई जिसका जवाब दिया गया और एक मुठभेड़ शुरू हुई.

पुलि‍स के मुताबिक “मुठभेड़ की शुरुआत में ही एक सेना जवान घायल हो गया था, जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया. 3 नागरिक भी गोलाबारी में घायल हुए. क्‍योंकि क्षेत्र खुला था. इलाक़े के सथनिया युवा रास्तों पर उतर आए और सुरक्षाबलों पर पत्‍थरबाज़ी की जिसके लिए पुलिस को आंसू गैस के गोले दागने पड़े. हवा में गोलियां चलानी पड़ीं. रविवार को सुबह श्रीनगर में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को निलंबित कर दिया था. ऑपरेशन समाप्त होने के बाद शाम को सेवाओं को बहाल किया गया.

मारे गए आतंकवादियों में से दो की पहचान मुदसिर राशिद पररे और साकिब बिलाल शेख के रूप में की गई जो बांदीपोरा जिले के हाजीन इलाके के के रहने वाले थे. तीसरा आतंकवादी अली पाकिस्तान का रहने वाला था. यह तीन आतंकवादी आतंकवादी संगठन एलईटी से संबद्ध थे. पुलि‍स ने और बताया कि पाकिस्तानी आतंकी अली लश्कर का कमांडर था और “अली, पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक, कई आतंकवादी अपराधों में शामिल था सुरक्षा केम्पों, सुरक्षाबलों और आम लोगों पर हमलों सहित उसके खिलाफ दर्जनों मामले दर्ज किए गए थे. वह बांदीपोरा के हजिन और सुम्बल क्षेत्रों में नए आतंकियों की भर्ती में भी शामिल था.”

ये तीन आतंकी श्रीनगर शहर में घुसने की फ़िराक़ में थे. शनिवार को यह आतंकी बंदिपोरा से श्रीनगर की तरफ़ बढ़े और सूचना मिली थी कि श्रीनगर में एक बड़ा आतंकी हमला अंजाम देनी की योजना बना चुके थे. मगर शहर में घुसने से पहले यह आतंकी दल शहर के बाहरी इलाक़े मजगुंड में छुप गए ताकि अँधेरा होने पर आगे बढ़े मगर इसे पहले यह अपनी योजना में सफल होते इन्हें मजगुंड में ही घेरा गया और इन्हें मुठभेड़ में मार कर इनकी योजना को विफल किया गया.

  • 1
    Share

LEAVE A REPLY